Subscribe Us

कासिम सुलेमानी (जनरल, ईरान)


* अमेरिकी रक्षा विभाग के मुख्यालय पेंटागन ने 3 जनवरी 2019 को कहा कि विदेश में अमेरिकी नागरिकों की रक्षा को लेकर किए गए ड्रोन हमले में ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के शक्तिशाली कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी मारे गए हैं
* अमेरिका के हवाई हमले में ईरान के जनरल कासिम सुलेमानी की मौत ने दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ा दिया है
* अमेरिका और ईरान में तनाव बढ़ने का असर भारत सहित विश्व के दूसरे देशों पर भी पड़ेगा
* ईरान के सुप्रीम लीडर अयतुल्ला खमेनेई ने जनरल कासिम की मौत पर तीन दिन के शोक की घोषणा की
* मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इराक के कद्स फोर्स के प्रमुख मेजर जनरल कासिम सुलेमानी का काफिला बगदाद एयरपोर्ट की ओर बढ़ रहा था उसी दौरान अमेरिकी सेना ने रॉकेट लॉन्चर से हवाई हमला कर दिया
* हमले में कासिम सुलेमानी के अतिरिक्त ईरान समर्थित सेना के डिप्टी कमांडर अबू मेहदी अल मुहादिस के भी मारे जाने की खबर है
* सुलेमानी का जन्म साल 1957 में ईरान के करमन प्रांत में एक किसान परिवार में हुआ था
* वे साल 1979 की क्रांति के बाद ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड्स में शामिल होने से पहले एक कंस्ट्रक्शन वर्कर थे
* जनरल सुलेमानी को अयातुल्ला खामेनी के बाद ईरान में सबसे ताकतवर माना जाता था
* उनका कुद्स फोर्स ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड्स की एक इकाई था जो सीधे-सीधे ईरान के सुप्रीम लीडर अयतुल्ला खमेनेई को रिपोर्ट करता है
* कासिम को देश के नायक के तौर पर भी सराहा जाता है
* सुलेमानी तेहरान मध्य पूर्वी विदेश और सुरक्षा नीति के प्रमुख आर्किटेक्ट थे
* उन्होंने साल 1998 में क़ुद्स फ़ोर्स की कमान संभाली तथा उस समय एक पावर ब्रोकर एवं एक सैन्य बल के रूप में उन्होंने ईरान के पक्ष में मध्य पूर्व को फिर से सत्ता में लाने की कोशिश की
* एक गरीब किसान परिवार में जन्मे कासिम सुलेमानी को भविष्य का राष्ट्रपति भी कहा जाता था
* उन्होंने आईएसआईएस को हराने में मदद की तथा पश्चिम एशिया में ईरान का प्रभाव बढ़ाने में भी उनकी अहम भूमिका थी
* जनरल कासिम सुलेमानी को अपने देश और देश के बाहर एक अहम हस्ती का दर्जा मिला हुआ था
* उनकी भूमिका सीरिया और इराक युद्ध में बेहद महत्वपूर्ण मानी जाती थी
* ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा कि ईरान और इस क्षेत्र के सभी मुक्त देश रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या हेतु संयुक्त राज्य अमेरिका से बदला लेंगे

Post a Comment

0 Comments