Subscribe Us

कोआला (Koala)


* कोआला ऑस्ट्रेलिया में पाया जाने वाला एक वृक्षों पर रहने वाला, शाकाहारी धानीप्राणी (मारसूपियल​) है
* यह 'फ़ैसकोलार्कटिडाए' (Phascolarctidae) जीववैज्ञानिक कुल का इकलौता सदस्य है जो अभी तक विलुप्त नहीं हुआ है
* यह पूर्वी और दक्षिणी ऑस्ट्रेलिया के तटवर्ती क्षेत्रों में मिलता है लेकिन ऐसे भी अंदरूनी इलाक़ों तक विस्तृत है जो अधिक शुष्क नहीं हैं
* 20वीं सदी में दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के अधिकतर कोआला मार दिए गए थे लेकिन फिर इन्हें विक्टोरिया से लाकर यहाँ पुनर्स्थापित कर दिया गया
* इसके उंगलियो के निसान मनुष्य से मिलते जुलते है
* कोआला एक ऐसा जीव है जिसे भालू माना जाता है जबकि इस प्यारे से दिखने वाले जानवर का भालू से कोई सम्बन्ध नहीं है इसे बीयर कहे जाने का कारण इसका टेडी बीयर की तरह दिखाई देना है
* इनकी उम्र 20 साल या उससे ज्यादा होती है
* ये खरगोश की तरह तेज़ भाग सकते हैं
* कोआला की शारीरिक संरचना पेड़ों पर रहने के लिए एकदम उपयुक्त होती है
* ये यूकेलिप्टस के पेड़ों पर निवास करते हैं और हर दिन लगभग 1 किलोग्राम यूकेलिप्टस की पत्तियां खा जाते हैं
* सिर्फ इतना ही नहीं, अपने खाने को लेकर ये इतने सजग हैं कि पेड़ से वही पत्तियां चुनकर खाते हैं जो टेस्टी और पौष्टिक होती हैं
* कोआला ऐसे प्राणी है जो बहुत कम मात्रा में पानी पीते हैं और पानी की जरुरत को यूकेलिप्टस की पत्तियों को खाकर पूरा कर लेते हैं
* यूकेलिप्टस के पेड़ पर रहने वाले और इसकी पत्तियां खाने वाले इस प्राणी की एक हैरान कर देने वाली बात ये है कि यूकेलिप्टस की पत्तियां बहुत सख्त और जहरीली होती है
* कोआला के दांत बहुत नुकीले होते हैं और इनका डाइजेस्टिव सिस्टम भी मजबूत होता है जिसमें एक लम्बा डायजेस्टिव ऑर्गन सीकम होता है जो इन पत्तियों को पचाने का काम करता है
* कुआला तकरीबन 18 से 20 घंटो तक सोते हैं इसका मुख्य कारण नीलगिरी के पत्ते हैं जोकि वह रोज़ाना 1 किलो तक खाते हैंं चूंकि यह पत्ते ज़हरीले होते हैंं अधिक मात्रा में अगर खाए जाएंं और साथ कम पौष्टिकता वाले किंतु बहुत ज़्यादा फाइबर वाले होते हैं

Post a Comment

0 Comments