Subscribe Us

टहलना (Walk) सुबह मैं चलने के फ़ायदे

Walk krne ka benefit,game, walking

* पैदल चलना हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है पैदल चलने से तन व मन में उल्लास व उत्साह का संचार होता है और हमारा शरीर सक्रिय रहता है
* हमारे पैरों की संरचना जटिल हैं जिसमें 26 हड्डियां 107 लिगामेंट्स 37 मांसपेशियां तथा 37 जोड़ चलने की प्रक्रिया में सक्रिय रहते हैं
* एक शोध के अनुसार एक व्यक्ति नियमित रूप से सैर कर प्रतिवर्ष सेहत के लिए किए जाने खर्च में लगातार ₹20000 तक बचा सकता है
* अतीत में प्रत्येक व्यक्ति की दिनचर्या में टहलना सम्मिलित था
* 1970 के दशक में 77% बच्चे पैदल स्कूल जाते थे वर्तमान समय में यह आंकड़ा 13% है
* प्रति सप्ताह 3 से 5 घंटे पैदल चलना कैंसर से पीड़ित लोगों की आयु में 50% की वृद्धि कर सकता है
* प्रतिदिन 1 घंटे की सैर तथा 1500 कैलोरी आहार का सेवन करने वाली महिलाएं अपना वजन नियंत्रित कर लेती हैं
* प्रति सप्ताह 90 मिनट तक टहलने वाले प्रॉस्टेट कैंसर से ग्रस्त पुरुषों की जीवन प्रत्याशा में 50% तक की वृद्धि हो सकती है
* जो महिलाएं नियमित रूप से सैर करती हैं उनमें कोलन कैंसर की आशंका व्यायाम या सैर न करने वाली महिलाओं की तुलना में 31% तक कम हो जाती है
* सुबह टहलने से विटामिन डी व कैल्शियम का स्तर भी शरीर में बढ़ जाता है
* जो व्यक्ति हर सप्ताह 6 से 9 मील तक पैदल चलते हैं उनमें डिमेंशिया होने की आशंका कम हो जाती है
* प्रतिदिन 30 मिनट टहलने से मानसिक तनाव से राहत मिलती है
* जो लोग हाई ब्लड प्रेशर से ग्रस्त है उन्हें नियमित रूप से टहलना चाहिए
* आहार पर नियंत्रण संतुलित जीवन शैली व प्रतिदिन लगभग 7 से 8000 कदम चलने से डायबिटीज को नियंत्रित किया जा सकता है
* हमारे देश में लगभग 62% लोग निष्क्रिय जीवन जीते हैं अर्थात कोई शारीरिक श्रम नहीं करते
* बढ़ती आयु के साथ हमारे शरीर की हड्डियां कमजोर जाती हैं इसलिए नियमित टहलने से फ्रैक्चर होने गिरने चोट लगने से बचाव हो जाता है क्योंकि टहलने से हमारी मांसपेशियां सुदृढ़ होती हैं
* मोटापा कई रोगों का कारण होता है इसे नियंत्रित करने में टहलना सहायक है
* प्रतिदिन 30 मिनट टहलने से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक तंत्र मजबूत होता है
* कैसे टहलना चाहिए
> टहलते समय शरीर सीधा रहना चाहिए
> कंधे पीछे दबे हुए सीना उभरा हुआ सिर पीछे तथा निगाह सामने की ओर हो
> शरीर ढीला रहे ताकि फुर्ती और चुस्ती बनी रहे
> मांसपेशियां तनाव में न रहे मुंह बंद रखना चाहिए
> सांस नाक से ही लेनी चाहिए
> गहरी सांस लेने का अभ्यास करना चाहिए ताकि स्वच्छ वायु शरीर में अधिक मात्रा में पहुंच सके
> सूर्योदय से पहले टहलना उत्तम है क्योंकि प्रातः कालीन वायु में ऑक्सीजन की मात्रा अधिक होती है
> सर्दियों के मौसम में धूप निकलने पर ही टहलना चाहिए

Post a Comment

0 Comments