Subscribe Us

तेकड़ी (Thekkady)

तेकड़ी (Thekkady)


* केरल की खूबसूरती में इस राज्य के पहाड़ों नदियों और जंगलों की अतुलनीय योगदान है जहां कुदरत के इन तीन नैसर्गिक उपहारों का बेमिसाल संगम है वह है केरल के इडुक्की जिले में बसी तेकड़ी
* मसालों के लिए मशहूर तेकड़ी उन पर्यटकों के लिए स्वर्ग है जो शहरी भागदौड़ से दूर प्रकृति की गोद में शांत और रोमांचक समय व्यतीत करना चाहते हैं
* हिंदी भाषी अक्सर इस स्थान के नाम का गलत उच्चारण करते हैं उनके द्वारा प्रयुक्त नामों में थेकड्ड़ी या थेक्कड़ी सबसे आम है ऐसा रोमन में इसकी स्पेलिंग की वजह से होता है
* स्थानीय भाषा मलयालम में इस स्थान का नाम तेकड़ी है तेकड़ी शब्द तेक से आया है मलयालम में तेक सागवान के वृक्ष के लिए प्रयोग में आता है यहां के जंगलों में सागवान के वृक्षों की बहुलता इसके नामों को सार्थक करती है
* इस छोटे से कस्बे की बनावट ऐसी है कि आपका इस पर दिला आना तय है
* यहां प्राकृतिक रूप से बने रास्ते ट्रैकिंग करने वालों को सहज ही भा जाते हैं क्योंकि इन्हीं रास्तों पर चलकर आप पक्षियों का कलरव सुन सकते हैं और दुर्लभ जीवों व पौधों को देखने का अनुभव प्राप्त कर सकते हैं
* यहां आग्नेय चट्टानों की ऊंची पहाड़ियों पर फैले वन और उनके भीतर मौजूद अतुलनीय जवैविविधता हर किसी को बांध लेती है
* सौंदर्य से भरपूर पेरियार घाटी के आगोश में समुद्र तल से लगभग 1700 मीटर ऊंचाई पर बसे इस स्थान का जादू आप यहां आकर ही महसूस कर पाएंगे
* यहां की बारिश हो या चाय कॉफी के बागान या इलायची के खेत यह सब मन को बांधने वाले दृश्य पैदा करते हैं
* यहां के जंगल जैवविविधता के लिए देशभर में प्रसिद्ध है इसकी घाटियां झरने और कलकल करते पानी के सोते मन मोह लेते हैं
* यही केरल का सबसे बड़ा वन्य जीव अभ्यारण पेरियार टाइगर रिजर्व भी है
* प्रकृति से सामंजस्य बनाते हुए रहना यहां के मूल निवासियों से सीखा जा सकता है जो आदिवासी ही हैं
* यहां मुथुवन एजवा आदि आदिवासियों की एक बड़ी जनसंख्या निवास करती है जंगलों के बीचोबीच बसी उनकी बस्तियां उनके जीवन में उपस्थित रोमांच को दर्शाने के लिए पर्याप्त है
* तेकड़ी के आसपास घूमने फिरने और ट्रैकिंग के रोमांच को जी सकने वाले स्थानों की भरमार है इनमें प्रमुख है रामक्कलमेड़, परिंदुपारा, कलावरी माउंट आदि
* यहां एलापारा नामक स्थान पर भी जा सकते हैं इस गांव का नाम इलायची यानी एला के नाम पर पड़ा है


periyar tiger reserve thekkady kerala




Places to visit in Thekkady kerala








* पर्यटक यहां गवी की यात्रा भी करते हैं जहां का लैंडस्कैप बेहतरीन है
* यहां रात के समय ट्रैकिंग करने वालों की दो टोलियां जंगल के सघन हिस्से में जाती हैं इसे जंगल नाइट पेट्रोल के नाम से भी जाना जाता है
* तेकड़ी केवल अपने जंगल के लिए ही नहीं बल्कि बागानी कृषि के लिए भी प्रसिद्ध है यहां इलायची काली मिर्च चाय कॉफी व अन्य मसालों की खेती होती है
* यहां के बागानों में भी गाइडेड टूर आयोजित किए जाते हैं जो पर्यटक कठिन व मध्यम स्तर की ट्रैकिंग नहीं कर सकते उनके लिए यह मुफीद है
* तेकड़ी से 15 किलोमीटर उत्तर की ओर चेलारकोविल झरना है जो तेकड़ी की खूबसूरती का एक नगीना है यदि आप जंगल और ट्रैकिंग का आनंद उठा चुके हैं और यहां कुछ नया देखना चाहते हैं तो यह झरना सबसे सुंदर जगह है
* केरल के कलारीपयट्टू को विश्व का सबसे पुराना मार्शल आर्ट माना जाता है इसकी प्रस्तुति तेकड़ी में जरूर देखनी चाहिए
* यहां आप बांस की मोटी मोटी बिल्लियों को एक साथ रखकर बनाई गई नाव जो लकड़ी या प्लास्टिक की नाव से अलग होती है का आनंद भी ले सकते हैं इसे बोंडी राफ्टिंग भी कहते हैं
* यहां का सबसे प्रमुख आकर्षण है पेरियार नेशनल पार्क जो यहां से ढ़ाई किमी दूर है
* पेरियार झील में नावों की सवारी का आनंद उठाना कौन नहीं चाहेगा सबसे मुख्य आकर्षण है इस झील का पेरियार वन्यजीव अभ्यारण के बीचोंबीच स्थित होना
* यहां से अब स्थानीय मसाले खरीद सकते हैं यहां जंगल से निकाला गया शहद भी मिल जाता है
* तेकड़ी देश के उन गिने-चुने स्थलों में से है जहां वर्ष में कभी भी जाया जा सकता है पर मानसून और इसके तुरंत बाद इस स्थान की खूबसूरती कमाल की होती है
* यहां का नजदीकी हवाई अड्डा कोच्चि इंटरनेशनल एयरपोर्ट है और रेलवे स्टेशन है आलुवा
* यहां बस या टैक्सी से भी जाया जा सकता है सरकारी और निजी दोनों तरह की बसें यहां चलती है
* यहां ठहरने के लिए पर्यटन विभाग के अलावा सभी तरह के होटल और लॉज उपलब्ध है

Post a Comment

0 Comments